योगिनी तंत्र साधना मंत्र

योगिनी तंत्र साधना मंत्र चौसठ योगिनी साधना, षोडश/चाँद/मधुमती योगिनी साधना, योगिनी तंत्र साधना मंत्र विधि- अपने देश में प्राचीन काल से ही आराधना के कई पंथ विकसित रहे हैं| शैव, वैष्णव, शाक्त आदि| परंतु निर्विवाद रूप से शक्ति की आराधना सभी करते हैं| विष्णु उपासक लक्ष्मी की तथा शिव उपासक पार्वती की स्वाभाविक रूप से आराधना करते हैं| परंतु प्राचीन मनीषियों ने सदैव शक्ति आराधना को पहले सोपान पर रखा है| योगिनियों के संबंध में दो…

"योगिनी तंत्र साधना मंत्र"

पति को वश में करने के लिए उपाय

पति को वश में करने के लिए उपाय महिलाओं का स्‍वभाव थोड़ा शक्‍की होता है लेकिन कभी-कभी ये शक सही निशाने पर जाकर लगता है। ऐसा मुश्किल ही देखा जाता है कि शादी के कई सालों बाद भी आपका वैवा‍हिक जीवन पहले की तरह ही सुखमय रहे। वहीं नई-नई शादी में लड़कियों को ये शिकायत रहती है कि उनके पति उनकी बात नहीं सुनते या उन पर ध्‍यान नहीं देते। इस तरह की छोटी-छोटी बातें…

"पति को वश में करने के लिए उपाय"

पति पत्नी के बीच झगड़े मुक्ति टोटके

पति पत्नी के बीच झगड़े मुक्ति टोटके पति-पत्नी में नोंक-झोंक एक आम सी बात है, परंतु कभी-कभी मामला नोंक-झोंक से बढ़कर भयंकर विवाद में परिवर्तित हो जाता है तथा स्थिति अलगाव तक पहुँच जाती है| कहते हैं, किसी समस्या के कारण को जान लेने पर उसका आधा समाधान अपने आप हो जाता है| पति-पत्नी में अनबन के पीछे आर्थिक, सामाजिक, पारिवारिक पृष्ठभूमि तो होती ही, परंतु ग्रह नक्षत्रों की भूमिका से भी इंकार नहीं किया…

"पति पत्नी के बीच झगड़े मुक्ति टोटके"

गोमती चक्र के तांत्रिक प्रयोग

गोमती चक्र के तांत्रिक प्रयोग गोमती चक्र को गाय का ही एक रूप माना जाता है इसका गो शब्द गाय से ही लिया गया है गाय को लक्ष्मी जी के रुप से जोड़कर देखा जाता है और इसे शुक्र ग्रह का कारक भी माना जाता है ऐसे लोग गले में तथा अंगूठी में धारण करते हैं होली दीपावली नवरात्रि आदि पर गोमती चक्र की विशेष पूजा होती है जय अमृत योग सिद्धयोग विभिन्न प्रकार के…

"गोमती चक्र के तांत्रिक प्रयोग"

कर्ण पिशाचिनी प्रयोग सिद्धि

कर्ण पिशाचिनी प्रयोग सिद्धि यह विद्या को करने के कई तरीके है , पर सबसे सफल तरीका अघोरी  का है , यह पिशाच को पाने का तरीका होता है ,जिस तरह हम ईश्वर आराधना करते है वैसे यह को प्राप्त करने के लिए यह अनुष्ठान किया जाता है,  जितना  कठिन मार्ग ईश्वर को प्राप्त करने का है ,उतना ही कठिन मार्ग पिशाच को प्राप्त करने का है , जप, तप , साधना , उपवास आदि,…

"कर्ण पिशाचिनी प्रयोग सिद्धि"